For the best experience, open
https://m.pangighatidanikapatrika.in
on your mobile browser.

Pandit Sukh Ram Died: पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम का 94 साल की उम्र में निधन, एम्स में चल रहा था इस बीमारी का इलाज

10 days ago
pandit sukh ram died  पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम का 94 साल की उम्र में निधन  एम्स में चल रहा था इस बीमारी का इलाज
Advertisement

शिमला: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम का 95 साल की अवस्था में निधन हो गया है। सुखराम के बेटे अनिल शर्मा ने बताया कि इलाज के लिए उन्हें नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती किया गया था। एम्स में उनका ब्रेन स्ट्रोक का इलाज चल रहा था। ब्रेन स्ट्रोक की वजह से गंभीर हालत में पहुंचे सुखराम को डॉक्टरों ने वेंटिलेटर पर शिफ्ट किया था। इसके बाद से उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सहित पार्टी के अन्य नेता उनके स्वास्थ्य की जानकाली ले रहे थे। सोमवार को दिन भर सोशल मीडिया में पंडित सुखराम को लेकर अफवाहें चलती रहीं। Pandit Sukh Ram Died

Advertisement

मोबाइल फोन से कॉल करने वाले पहले व्यक्ति थे सुखराम
सुखराम के बारे में कहा जाता है कि वह भारत में मोबाइल फोन से कॉल करने वाले पहले व्यक्ति थे। इन्हें पंडित जी के नाम से भी जाना जाता था। वह केंद्र की नरसिम्हा राव सरकार में साल 1993 से 1996 तक देश के सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार मंत्री रहे। इन्हीं के मंत्री रहते टेलिकॉम सेक्टर को निजी क्षेत्र के लिए खोला गया। सुखराम हिमाचल प्रदेश के मंडी सीट से लोकसभा सांसद रहे। इन्होंने विधानसभा का चुनाव पांच बार एवं लोकसभा का चुनाव तीन बार जीता। सुखराम हिमाचल प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री डॉक्टर वाईएस परमार की कैबिनेट में भी मंत्री रहे।

Advertisement

टेलिकॉम घोटाले में सजा हुई
सुखराम के बेटे अनिल अभी मंडी से भाजपा विधायक हैं। सुखराम को 2011 में भ्रष्टाचार के केस में पांच साल की सजा हुई। कांग्रेस नेता का नाम टेलिकॉम घोटाले में आया था।

Advertisement

Pandit sukh ram passes away: आश्रय शर्मा ने दादा संग अपने बचपन की एक तस्वीर भी शेयर की है. हालांकि, फेसबुक पोस्ट में इस बात का जिक्र नहीं है कि सुखराम का निधन कब हुआ. सुखराम 1993 से 1996 केंद्रीय संचार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रहे थे. वे मंडी लोकसभा सीट पर सांसद भी रहे थे. वे पांच बार विधानसभा तथा तीन बार लोकसभा चुनावों में विजयी रहे थे.

Advertisement

ABOUT AUTHOR

Patrika News Desk

Author Image
View all posts
×

.