For the best experience, open
https://m.pangighatidanikapatrika.in
on your mobile browser.

पांगी में मिंधल माता मंदिर में चल रही छड़ी यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं की व्यवस्था न होने की वजह से पांच प्रजा कमेटी पर उठ सवाल

12 days ago
Advertisement

पांगी( वीरू राणा) पांगी घाटी के ऐतिहासिक मिंधल माता मंदिर में चल रही 15 दिनों की छड़ी यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं की व्यवस्था न होने की वजह से पांच प्रजा कमेटी पर सवाल उठ रहे है। जहाँ बड़ी छड़ी यात्रा से पहले ही श्रद्धालुओं की व्यवस्था नहीं हो पाई है, वही बड़ी छड़ी यात्रा के दौरान जहाँ 4 हजार के करीब श्रद्धालु माता के दर्शन करने पहुंच रहे है। हैरानी की बात है की पांच प्रजा कमेटी ने आपने सदस्यों के लिए दो बड़ी सराय भवन के कमरों को बुक करके रखे है। लेकिन मंदिर में दर्शन करने पहुंच रहे श्रद्धालुओं को ग्रामीणों के लेंटरों पर कड़ाके के ठंड में रात गुजरने के लिए मज़बूर होना पड़ रहा है। हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं मिंधल माता के दर्शन करने मिंधल पहुंचते है। जोकि हर साल लाखों का चढ़वा मंदिर में चढ़ाते है। उसके वावजूद भी मंदिर कमेटी श्रद्धालुओं के रहने के लिए सराय भवन का निर्माण नहीं कर पा रही है।

Advertisement

Advertisement

आपकी जानकारी के लिए बता दे की मिंधल माता मंदिर जब सरकार के अंडरटेक था उस समय मिंधल पुल से लेकर मंदिर परिसर तक टैंटो की व्यवस्था की जाती थी लेकिन मौजूदा समय में श्रद्धालुओं के रात बिताने के लिए किराये के कमरों मुँह मांगा किराया चुकाना पड़ रहा है। आपको बता दे की जहाँ कमेटी के पांगी प्रशासन वह जम्मू सरकार को 2 हजार के करीब श्रद्धालुओं को मंदिर परिसर में बिठाने के बात कही थी लेकिन अभी पांच प्रजा कमेटी की पोल खुल गई है। इस वर्ष बड़ी छड़ी यात्रा के साथ करीब 400 सौ गाड़ियों में सैकड़ों श्रद्धालुओं ने माता के दरवार पहुंचकर माथा टेकने पहुंच रहे है लेकिन मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के रहने की व्यवस्था नहीं हो पा रही है। जिसको लेकर श्रद्धालु कमेटी पर सवाल उठा रहे है। 2 साल कोविड के बाद मिंधल यात्रा शुरू हुई है जिसमें हिमाचल के पड़ोसी राज्य जम्मू समेत कई राज्यों से श्रद्धालु मां मिंधल वासनी के दर्शन करने पांगी घाटी के मिंधल गांव पहुंचते हैं। श्रद्धालुओं की व्यवस्था के लिए पांगी प्रशासन समेत जिला प्रशासन द्वारा पुख्ता इंतजाम नहीं किया गया।

Advertisement

इस संबंध में जानकारी देते हुए उपमंडल अधिकारी पांगी रजनीश शर्मा ने बताया कि मिंधल यात्रा के दौरान श्रद्धालुओ की व्यवस्था को लेकर कमेटी के सदस्यों से बैठक की गई थी। जिसमे कमेटी द्वारा 4 हजार के करीब श्रद्धालुओं की रहने की बात कही गई थी। श्रद्धालुओं के रहने के लिए कमेटी जिम्मेदारी रहती है।

वही पांच प्रजा कमेटी के अध्यक्ष प्रताप सिंह ने बताया कि 15 दिनों तक चल रही मिंधल यात्रा के दौरान कमेटी की और से जितना हो रहा है उतनी व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने ने बताया की कमेटी की और से भरपूर व्यवस्था करने की कोशिश की जा रही है। प्रधान ने बताया की दो साल कोविड के चलते मिंधल यात्रा बंद रही। लेकिन इस वर्ष भारी संख्या में श्रद्धालु मिंधल माता के दर्शन करने पहुंच रहे है। उन्होंने ने श्रद्धालु से आग्रहे किया है की जो श्रद्धालु माता के दर्शन कर चुके है वो आपने घर की और प्रस्थान करें। ताकि बड़ी छड़ी यात्रा के दौरान सभी श्रद्धालुओ के रहने की व्यवस्था हो सके।

पांगी थाना प्रभारी अशोक राणा ने बताया कि मिंधल यात्रा के दौरान पुलिस व्यवस्था को लेकर उन्होंने पुख्ता इंतजाम किए गए हैं उन्होंने बताया कि 15 दिनों तक चल रही मिंधल यात्रा के दौरान उन्होंने मंदिर परिसर में कंट्रोल रूम समेत ट्रैफिक व्यवस्था को सुचारू रखने के लिए 40-50 के करीब पुलिस बल तैनात किए हुए हैं यदि श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ती है तो जिला से पुलिस बल मिंधल यात्रा के दौरान तैनात किया जाएगा..

Advertisement

ABOUT AUTHOR

Patrika News Desk

Author Image
View all posts
×

.